गदर 2: 22 सालों के बाद फिर से छाया जादू, प्री-बुकिंग में दर्शकों की भरपूर रुचि

0
147
गदर 2

“गदर 2” की घोषणा: 22 सालों के बाद फिर से दर्शकों का आनंद

11 अगस्त 2023: बॉलीवुड के फ़िल्म प्रेमियों ने बेसब्री से इंतज़ार किया था – “गदर 2” का दिन। 22 साल के बाद, इस फ़िल्म का आज दिन आ गया है। आज 11 अगस्त को ही यह फिल्म रिलीज़ हो गई है और अब फिर से दर्शकों को मनोरंजन का आनंद देने के लिए तैयार है। यह फ़िल्म 22 साल के इंतज़ार के बाद टारा सिंह और सकीना के प्रसिद्ध चरणों को फिर से दिखाती है, जो 22 साल पहले सुपरहिट फ़िल्म “गदर” में दर्शकों के दिलों में बस गए थे। इस बार, उनके पुत्र जिते (उत्कर्ष शर्मा) पाकिस्तान में फंसे हैं, और टारा सिंह उन्हें बचाने के लिए सीमा पार करके पाकिस्तान जाते हैं।

गदर 2: उत्कर्षित दर्शकों की आकर्षण की तरफ
“गदर 2” फ़िल्म ने अपने प्रशंसकों में बड़ी उत्साहना पैदा की है। Bookmyshow के मुताबिक़, पहले से ही 280,000 से ज़्यादा दर्शक प्री-बुकिंग में दिख रहे हैं। यह संख्या स्पष्ट रूप से इस फिल्म के प्रति दर्शकों के उत्कर्षित रुचि का प्रमाण है।

लाहौर की तस्वीरों में: “गदर 2” की कहानी
यह बात अपने आप में रोमांचक है कि इस बार “ग़दर 2” की कहानी लाहौर के वातावरण में प्रस्तुत हो रही है। 1971 का यह समय, जब भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध था, इसे फ़िल्म की कहानी के पारिधि में विशेष महत्वपूर्णी देता है। सनी देओल, अमीषा पटेल और उत्कर्ष शर्मा के साथ, इस फ़िल्म में मनीष वाधवा, सिमरत कौर और गौरव चोपड़ा जैसे प्रतिष्ठित अभिनेता भी अहम भूमिकाओं में दिखाई देंगे।

गदर: एक प्रेम कथा (2001) – भारत के विभाजन के बीच प्यार और साहस की कहानी

“गदर: एक प्रेम कथा” एक भारतीय फ़िल्म है जिसमें हम वो दर्द और प्यार की कहानी देखते हैं जो 1947 के भारत के विभाजन के समय हुई थी। इस फ़िल्म का डायरेक्टर अनिल शर्मा है। कहानी के मुख्य किरदार हैं तारा सिंह (जिन्होंने सनी देओल के रूप में अपने आप को प्रस्तुत किया) और सकीना (जिन्होंने अमीषा पटेल के रूप में अपने आप को प्रस्तुत किया)।

फ़िल्म दिखाती है कि 1947 में भारत के विभाजन के समय कैसे सामाजिक और राजनीतिक दंगों ने लोगों के जीवन को कैसे प्रभावित किया। तारा सिंह अपनी पत्नी और बेटे को लाहौर के दंगों से बचाने के लिए कैसे संघर्ष करते हैं, यह फ़िल्म की केंद्रीय कहानी है।

“गदर” उस समय की सबसे बड़ी कमाई करने वाली भारतीय फ़िल्मों में से एक थी और इसने दर्शकों के दिलों को छू लिया। सनी देओल की भावुक अभिनय ने लोगों के दिलों में जगह बना ली। इस फ़िल्म की राष्ट्रीय भावनाएँ और भावनात्मक कहानी ने दर्शकों के मनोबल को बढ़ाया और यह एक ऐतिहासिक घटना, प्रेम और मानवता की मजबूती पर आधारित एक यादगार फ़िल्म बन गई।

गदर 2: प्री-बुकिंग के चरण

“ग़दर 2” के प्रति दर्शकों की उत्कर्षित रुचि का परिणाम है कि इसकी प्री-बुकिंग तो पहले ही बड़ी संख्या में हो रही है। फ़िल्म विश्लेषक तरन आदर्श के अनुसार, बड़े मल्टीप्लेक्स चेनों में PVR, Inox और Cinepolis के तिकट काउंटरों पर अब तक लगभग 1,41,500 टिकट बेचे जा चुके हैं। और खुलने वाले दिन दूसरे मल्टीप्लेक्सों में भी लगभग 65,000 टिकट बेच दिए गए हैं।

आगामी वीकेंड की उम्मीदें
प्री-बुकिंग के द्वारा इस फ़िल्म ने अब तक लगभग 15 करोड़ रुपये की कमाई की है, जिससे कुल वीकेंड के लिए लगभग 18 करोड़ रुपये की ग्रॉस कमाई की गई है। बॉलीमूवीरिव्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, दर्शकों की उम्मीदें फ़िल्म “ग़दर 2” के प्रति ऊँची हैं और पहले दिन लगभग 2,00,000 टिकट बेचे जाने की उम्मीद है।

गदर 2 के टिकटों की कीमतें

फ़िल्म “गदर 2” के टिकट कीमतें विभिन्न मल्टीप्लेक्सों में भिन्न-भिन्न हो सकती हैं। यह इस फ़िल्म की लोकप्रियता और दर्शकों की आरामदायकता के आधार पर निर्धारित की जाती है। हालांकि, Bookmyshow पर फ़िल्म की कीमतें 200 रुपये से शुरू होकर 2200 रुपये तक जा सकती हैं।

निष्कर्षण
इस “गदर 2” के प्रीमियर के साथ, एक नये युग का आगमन हो रहा है और 22 साल के इंतज़ार के बाद फिर से दर्शकों को मनोरंजन का अद्भुत अनुभव हो रहा है। इस नयी कहानी में, टारा सिंह और सकीना के परिवार की दिलचस्प कहानी और उनके पुत्र के लिए उनकी सीमा पार करने वाली कठिनाईयों से भरपूर मेहनत का अद्भुत प्रस्तुतीकरण किया गया है। इस फिल्म के माध्यम से दर्शकों को न सिर्फ एक रोमांचक कहानी का आनंद मिलेगा, बल्कि यह उन्हें एक प्रेरणास्त्रोत भी प्रदान करेगी। ग़दर 2 के साथ बॉलीवुड फ़िल्मों का एक नया युग का आरंभ हो रहा है, जिसकी यात्रा दर्शकों के साथ बहुत ही रोमांचक और मनोरंजक होने की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here